Wednesday, 16 March 2016

5 powerful seo tricks and tips in hindi tutorial seo ke fayde

Top 5 powerful seo tricks and tips in Hindi 

5 powerful seo tricks and tips in hindi tutorial seo ke fayde
5 powerful seo tricks and tips in hindi tutorial seo ke fayde





वेबसाइट या ब्लॉग में SEO क्या फायदा है।  ?

जैसे की मैंने अपनी पहली पोस्ट में बताया एस क्या है इन हिंदी में
मेरे कहने का मतलब है की अगर आप ब्लॉगिंग से पैसा कमाने के लिए कर रहे है तो आपको आपने ब्लॉग को पुरे तरह से एस फ्रेंडली बनाना होगा।  



ब्लॉगिंग में सक्सेस होने के सिर्फ 2 मूल मंत्र है।
1)  ब्लॉग को एस ऑप्टिमाइज़ करना
2)  
ब्लॉग का ट्रैफिक
अगर एस बढ़िया है तो ट्रैफिक बढ़िया होगा, ब्लॉग में एस बढ़िया करने के लिए आपको बेस्ट एस टिप्स हिंदी में जानने की जरूरत है
जो आपको इस पोस्ट में बताना चाहता हूँ




5 powerful seo tricks and tips in hindi 






1)  Post में Label लगाना क्यों जरूरी है

     वेबसाइट या ब्लॉग में लेबल लगाना एक कीवर्ड को जमा करने के काम आता है।  लेबल टैग्स का काम करता है।  और अगर आपका लेबल आपकी पोस्ट से रिलेटेड होगा तो एस ऑप्टिमाइज़ बहुत अच्छे तरीके से होगा।

लेबल लगाने का एक और फायदा है, लेबल के जरिये आप अपनी वेबसाइट को एक वयवस्थित तरीके से रख पाते है।

इसलिए आप अपनी वेबसाइट या ब्लॉग में लेबल जरूर लगाये और ब्लॉग या वेबसाइट को ऑप्टिमाइज़ कीजिये।

अगर आप अपने ब्लॉग में  इमेजेज डालते हो तो इमेजेज को भी ऑप्टिमाइज़ करना बहुत ही जरूरी है. वर्डप्रेस में प्लगइन आते है जो  टाइटल और टैग को इमेज के साथ जोड़ देते है लेकिन ब्लॉगर में आपको ये काम खुद करना पड़ता है.
ब्लॉगर में इमेजेज को ऑप्टिमाइज़ कैसे करे
   
ब्लॉगर में ऑप्टिमाइज़ के  लिए आप जब भी किसी पोस्ट में इमेजेज ऐड करते है तो तब आपको इमेज पे क्लिक करने पे प्रॉपर्टीज पे क्लिक करने आप उस इमेज के बारे में डाले उसके साथ ऐड कैप्शन पे क्लिक करके उसमे भी आप इमेज के बारे में डाले।
जिससे आपकी इमेज सर्च इंजन में ऑप्टिमाइज़ हो।



3)  Meta Tags

में आपको बताना चाहता हूँ मेटा टैग एस ओ का आधार है. इसके बिना आप अपनी वेबसाइट या ब्लॉग को कभी भी गूगल पे अच्छी रैंकिंग नही पा सकते है।

मेटा टैग्स का उपयोग हम सर्च इंजन को हमारी वेबसाइट या ब्लॉग का टाइटल, डिस्क्रिप्शन और बहुत सारी बाते इडेंटिफी करने के लिए उसे करते है ताकि हमारी एस रैंकिंग में सुधार हो सके। और मेटा टैग्स को जयादा हार्ड नही बनाना चाहिए की सर्च इंजन को समज में ही आये।

ऑनलाइन मेटा टैग्स बनाने के लिए वेबसाइट।



4)  वेबसाइट या ब्लॉग का Permalink 


आपकी पोस्ट का लिंक एस में एक बहुत  बड़ी भूमिका अदा करता है।
मै आपको कुछ रूल्स बताना चाहता हूँ पर्मालिंक को और बेहतर बनाने के लिए।

           1)  
अपनी पोस्ट टाइटल के सब्दो को कम से कम 45-50 रखे।
           2)  
अपनी पोस्ट के टाइटल माँ से इंग्लिश आर्टिकल को उसे मत करे अगर आपको हिंदी पोस्ट करते  हो तो.

जब आप अपनी पोस्ट को लिखते है।  आप पर्मालिंक के ऑप्शन को एडिट कर सकते हो. और उसमे से आर्टिकल को हटा दो, ताकि कोई  अच्छा कीवर्ड को उसे करे पर्मालिंक में।



5)   Keywords में सुधर करके

पर्मालिंक के बाद बारी है कीवर्ड्स की।  कीवर्ड्स भी एक बहुत बड़ी भूमिका अदा करता है। कम कीवर्ड्स आपको कम रैंकिंग और जयादा कीवर्ड जयादा रैंकिंग।  आपकी पोस्ट में पोस्ट से रिलेटेड कीवर्ड को जमा करना एस में मत्वपूर्ण है।  आपकी पोस्ट के लिए जयादा  मुस्किल कीवर्ड्स को उसे करे जिससे सर्च इंजन समझ ना पाये।






NEXT ARTICLE Next Post
PREVIOUS ARTICLE Previous Post
NEXT ARTICLE Next Post
PREVIOUS ARTICLE Previous Post
 

Delivered by FeedBurner